पाकिस्तान में घुसकर हमले के बाद भारत ने दिया बयान 1

पाकिस्तान में घुसकर हमले के बाद भारत ने दिया बयान

देश दुनिया

आज सुबह हुए बालाकोट हमले के बाद भारत के विदेश मंत्रालय ने बयान जारी कर कहा है कि भारत का निशाना न तो सिविलियन थे और न ही पाकिस्तानी सेना बल्कि भारत का मकसद आतंकियों को निशाना बनाना था।
भारतीय विदेश सचिव विजय गोखले ने अपने बयान में यह भी बताया कि हमला सफल रहा और इसमें आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के कमांडर उस्ताद गौरी, कुछ ट्रेनर और आतंकवादी हमलों का प्रशिक्षण ले रहे कई आतंकवादी मारे गए हैं. हालांकि भारत सरकार की ओर से मारे गए लोगों की संख्या का कोई आंकड़ा जारी नहीं किया गया है।
भारत ने अपने बयान में सीधे तौर पर कहा कि यह हमला पाकिस्तान पर, उसकी अवाम पर या सेना पर हरगिज़ नहीं था, केवल आतंकवादियों को निशाना बनाया गया। यानी भारत युद्ध का न तो अपनी ओर से संकेत दे रहा है और न ही पाकिस्तान को युद्ध में जाने के लिए किसी तरह की वजह दे रहा है।
विदेश सचिव विजय गोखले ने कहा कि पुलवामा में हमले के बाद जैश-ए-मोहम्मद भारत के कई अन्य हिस्सों में भी हमले की तैयारी कर रहा था और इसके लिए बड़े पैमाने पर आतंकियों को प्रशिक्षण दिया जा रहा था। भविष्य में पुलवामा जैसे हमले को रोकने के लिए ऐसा करना ज़रूरी था।
गोखले ने स्पष्ट किया कि यदि पाकिस्तान उसके वहां मौजूद आतंकवादियों और उनके ठिकानों पर कार्रवाई नहीं करता है तो भारत कार्रवाई करने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा “भारत सरकार आतंकवाद के खतरे से लड़ने के लिए सभी जरूरी उपाय करने को दृढ़ प्रतिबद्ध है। पाकिस्तान सरकार ने 2004 में वचन दिया था कि वह उसकी धरती का इस्तेमाल भारत के खिलाफ आतंकवाद के लिए नहीं होने देगी। हम उम्मीद करते हैं कि पाकिस्तान अपनी सार्वजनिक प्रतिबद्धता पर खरा उतरेगा और जैश-ए-मोहम्मद के तथा अन्य आतंकवादी शिविरों को नष्ट करने के लिए कार्रवाई करेगा। साथ ही वह आतंकवादियों पर भी कार्रवाई करेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.