भरतीय वीरों के सम्मान में कुछ कवि और शायरो की लिखी पंक्तियाँ। 1

भरतीय वीरों के सम्मान में कुछ कवि और शायरो की लिखी पंक्तियाँ।

अम्बेडकर नगर व्यक्तित्व

जी हाँ हमारे देश के जांबाज़ वीर योद्धा हमारे देश के सैनिक के नाम कुछ लाइन कविऔर शायरों की तरफ से उनका मानो बल बड़ाने के लिए,
अम्बेडकर नगर के मशहूर कवि मंच संचक तारकेश्वर मिश्रा जी की कुछ लाइन सेना के नाम अक्सर भारत ने किया पाक हितों की बात ,     रुख बदला जो पाक ने दिखा दिया ओकात,
अब भी हल बस एक है करे प्रेम से बात,
अमल करें सुधार सके सरहद के हालात।
साथ ही दानिश अकबर पूरी  ने अपनी कविताओं और नज्मो से हमारे देश के सैनिकों का मानो बल बड़ाया
जो निम्नवत है

ज़मीं पे रहकर फलक जिसका एहतराम करे।
कलम करने से पहले उन्हें सलाम करे।।
है मौत उनकी बज़ाहिर मगर वो ज़िंदा है।
वतन के नाम पे जो ज़िन्दगी तमाम करे।।

————-

तेरी इक निगाह ही गर इस चमन पे हो जाए,
जीत मेरी मुमकिन है इस पवन पे हो जाए,
है क़सम की मरने के बाद वो अमर होगा,
जान ओ दिल से जो शैदा इस वतन पे हो जाए।
…दानिश अकबरपुरी

Leave a Reply

Your email address will not be published.