Fani cyclone

Fani cyclone: 175 से 200 किमी/घंटे की रफ्तार से चल रही हैं हवाएं, 3 लोगों की मौत

देश दुनिया

चक्रवाती तूफान फेनी (Fani cyclone) के पूर्वी तट की ओर मुड़ने के कारण ओडिशा (Odisha) में 11 लाख लोगों को तटीय इलाकों से निकाला गया। यह देश का अब तक सबसे बड़ा आपदा पूर्व अभियान है। विशेष राहत आयुक्त एसआरसी (SRC) के मुताबिक, तटीय इलाकों से निकालकर लोगों को 880 चक्रवात केंद्रों, स्कूल-कॉलेज की इमारतें और अन्य ठिकानों जैसे सुरक्षित स्थानों पर ले जाया जा रहा है। ओडिशा के 14 जिले-पुरी, जगतसिंहपुर, केंद्रपाड़ा, बालासोर, भद्रक, गंजम, खुर्दा, जाजपुर, नयागढ़, कटक, गजपति, मयूरभंज, ढेंकानाल और क्योंझर के चक्रवात की चपेट में आने की संभावना है। वहीं आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और पश्चिम बंगाल में चक्रवात का प्रभाव पड़ने की संभावना है।
चक्रवाती तूफान फेनी (Fani) से ओडिशा में विभिन्न घटनाओं में तीन लोगों की मौत हो गयी। पुरी (Puri) जिले के सखीगोपाल (Sakhigopal) थानाक्षेत्र में एक पेड़ टूटकर एक किशोर पर गिर गया जिससे उसकी मौत हो गई। नयागढ़ (Nayagarh) जिले में कंकरीट के एक ढांचे का मलबा उड़कर एक महिला को जा लगा जिससे उसकी मौत हो गयी। वहीं केंद्रपाड़ा जिले के देबेंद्रनारायणपुर गांव में एक शरणार्थी शिविर में 65 वर्षीय एक महिला की मृत्यु हो गयी। ऐसा संदेह है कि महिला की मौत दिल का दौरा पड़ने से हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.