प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का दलित विरोधी चेहरा एक बार फिर सामने आया

देश दुनिया राजनीति

जी हम बात कर रहे है देश के मौजूदा प्रधानमंत्री की प्रधानमंत्री ने 2014 के लोकसभा चुनाव में जीत हासिल की थी
दरअसल बनारस में जब प्रधानमंत्री विश्व नाथ धाम का उद्घाटन कर रहे थे तब वहां आसपास की बस्तियों के दलितों को कड़ी सुरक्षा में कैद कर दिया गया लोगो को यह विश्वास था कि प्रधानमंत्री मोदी उनके पास आयेंगे और उनकी सम्स्याओं को सुनेगे और उनके साथ बीते दिनों की गई ज्यादती के लिए मुजरिमों को सजा देगे लेकिन उनको उन्ही के गली मोहल्ले में बाहर घूमने की इजाज़त नहीं मिली इस पर 20 साल के दलित विशाल का कहना है कि मोदी दलितों से डर गए है इसलिए उन्हें मोदी के आसपास भटकने भी नही दिया जा रहा हैदरअसल अमोनिया घाट के नजदीक जलसीन घाट के दलितों की कहानी विकास के नाम पर एक धब्बा है काशी को क्योटो की तरह बनाएंगे इस तरह के शब्द पर धब्बा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.