प्राइमरी स्कूलों (Primary Schools) में एक ही पैर के जूते (Shoes) बांट दिए 1

प्राइमरी स्कूलों (Primary Schools) में एक ही पैर के जूते (Shoes) बांट दिए

शिक्षा और करियर

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के प्राइमरी स्कूलों (Primary Schools) में बच्चों को एक ही पैर के जूते (Shoes) बांटे जा रहे हैं। गड़बड़ी यही तक रहती तो तो गनीमत थी बल्कि कई जोड़े जूते (Shoes) ऐसे भी मिले जिसमें एक पैर लड़की और दूसरा पैर लड़के का था। यही नहीं दोनों जूते (Shoes) अलग-अलग कंपनियों के है। पूरे प्रदेश में एक करोड़ अस्सी लाख छात्रों को स्कूल ड्रेस (School Dress) के साथ एक जोड़ी जूता (Shoes) और दो जोड़ी मोजे (Socks) दिए जाने हैं।
शिक्षकों (Teachers) का कहना है कि 10,000 से अधिक जूतों (Shoes) में गड़बड़ी की शिकायत है। उनका कहना है कि लखनऊ (Lucknow) में अब तक जितने भी जूते (Shoes) वितरित किए गए हैं उनमें से 30% जूतों (Shoes) किसी न किसी प्रकार की गड़बड़ी सामने आ रही है। इसके अलावा मोजों (Socks) की गुणवत्ता भी बहुत खराब है। लखनऊ में प्राइमरी, उच्च प्राइमरी मिलकर कुल 1,42,000 छात्र-छात्राओं को वितरित किए जाने हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.