मुंबई हमले में शहीद हेमंत करकरे पर साध्वी प्रज्ञा का विवादित बयान - News India

News India

NEWS INDIA Desh ki aawaz

Post Top Ad

Responsive Ads Here

मुंबई हमले में शहीद हेमंत करकरे पर साध्वी प्रज्ञा का विवादित बयान

Share This

भोपाल लोकसभा सीट से बीजेपी प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने 26/11 के मुंबई हमले में शहीद हुए हेमंत करकरे के ख़िलाफ़ विवादित बयान दिया है। प्रज्ञा ठाकुर ने कहा कि हेमंत करकरे ने उन्हें ग़लत तरीक़े से फंसाया है। प्रज्ञा ठाकुर ने कहा कि एक अधिकारी ने हेमंत करकरे से उन्हें छोड़ने का कहा था लेकिन करकरे ने कहा था कि वो कुछ भी करेंगे, सबूत लाएंगे लेकिन साध्वी को नहीं छोड़ेंगे. साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने कहा कि हेमंत करकरे का ये क़दम देशद्रोह था, धर्मविरुद्ध था। साध्वी बोलीं की ये उसकी कुटिलता थी ये देशद्रोह था धर्मविरुद्ध था, वो मुझसे पूछता था कि क्या मुझे सच के लिए भगवान के पास जाना होगा, तो मैंने कहा था कि आपको जरूरत है तो जाइए।
सभा में साध्वी प्रज्ञा ने कहा ''मैंने उसे कहा था तेरा सर्वनाश होगा, उसने मुझे गालियां दी थीं. जिस दिन मैं गई तो उसके यहां सूतक लगा था और जब उसे आतंकियों ने मारा तो सूतक खत्म हुआ.''
आपको बता दें कि हेमंत करकरे मुंबई में हुए आतंकी हमले में आतंकवादियों की गोलियों का शिकार हुए थे। इसके अलावा जिस केस में साध्वी प्रज्ञा आरोपी थीं, उस मालेगांव सीरियल ब्लास्ट की जांच इनके पास ही थी। हालांकि, उनकी चार्जशीट पर कई तरह के सवाल खड़े हुए थे।





बीजेपी ने साध्वी प्रज्ञा के बयान से लिया किनारा





बीजेपी ने भोपाल संसदीय सीट से पार्टी की उम्मीदवार और मालेगांव बम विस्फोट मामले में आरोपी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के आतंकी हमले में शहीद हुए एटीएस चीफ हेमंत करकरे पर बयान से किनारा कर लिया है। भाजपा के राष्ट्रीय मीडिया प्रमुख अनिल बलूनी की ओर से जारी प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा कि, बीजेपी का मानना है कि स्वर्गीय हेमंत करकरे आतंकवादियों से बहादुरी से लड़ते हुए वीरगति को प्राप्त हुए। भाजपा ने हमेशा उन्हें शहीद माना है। साध्वी प्रज्ञा का बयान निजी है जो कि वर्षों तक उन्हें हुई शारीरिक और मानसिक प्रताड़ना के कारण दिया गया होगा।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages