उत्तर प्रदेश सरकार ने बिजली की दरों में 15 प्रतिशत बढ़ौतरी की किसान आत्महत्या करने पर मजबूर - News India

News India

NEWS INDIA Desh ki aawaz

Post Top Ad

Responsive Ads Here

उत्तर प्रदेश सरकार ने बिजली की दरों में 15 प्रतिशत बढ़ौतरी की किसान आत्महत्या करने पर मजबूर

Share This
अकबरपुर के पटेल नगर में स्थित भारतीय किसान यूनियन लोकशक्ति के जिला कार्यालय पर प्रदेश प्रवक्ता मो.कैफ की अध्यक्षता व पटेल के संचालन में हुई बैठक के बाद चार सूत्रीय ज्ञापन जिला प्रशासन को दिया गया। मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन में बिज़ली की बढ़ी दरों को तत्काल वापस लेने की मांग की गई है तथा कई विद्यालयों द्वारा कबाड़ बसों को एआरटीओ की मदद चालए जाने पर नाराजगी प्रकट किया। श्री कैफ ने कहा किसान प्रधान देश में उत्तर प्रदेश सरकार ने बिजली की दरों में 15 प्रतिशत बढ़ौतरी कर किसानों को आत्महत्या करने पर मजबूर कर दिया है इसलिए तत्काल प्रभाव से बिजली की बढ़ी हुई दर को वापस लिया जाए। उन्होंने कहा कि जिला मुख्यालय पर स्थित पुलिस लाइन के पास के गाँव सुल्तानपुर में बिजली विभाग द्वारा कनेक्शन काटने का भय दिखा कर अवैध वसूली की जा रही है जिससे किसानों में आक्रोश व्याप्त है इसलिए तत्काल बिज़ली विभाग को किसानों के उत्पीड़न करने पर रोक लगाने का निर्देश दिया जाए। विद्यालयों में सेल्फी फिंगर पर आपत्ति लगाने वाले शिक्षकों को कम से कम 140 किमी दूर भेजने की भी माँग की गई है। छात्रों से भरी बस के साथ एटा में हुए हादसे की पुनरावृत्ति ना होने पाए इसलिए विद्यालयों द्वारा संचालित कबाड़ा बसों को सीज़ करने की भी माँग भारतीय किसान यूनियन लोकशक्ति के पदाधिकारियों ने मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेज कर किया है। प्रदेश प्रवक्ता मो.कैफ के नेतृत्व में जिला प्रशासन को ज्ञापन देते समय सत्यम, अंकुर, आमिर, आर्यन, पटेल, चुलबुल आदि मौजूद रहे।

3 comments:

  1. b62b is cialis prescription only

    http://cialisyreo.com/ - only here dosage cialis
    costo del cialis in farmacia

    click now cialis and women

    ReplyDelete
  2. This text is worth everyone's attention. Where can I find out more?

    ReplyDelete
  3. Why visitors still use to read news papers when in this technological world
    the whole thing is available on net?

    ReplyDelete

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages